Ind vs pak virender sehwag alleges people burst firecrackers after ind vs pak match says hypocrisy to ban it on diwali

0
44


नई दिल्ली. वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) ने सोमवार को दिवाली पर पटाखों पर प्रतिबंध के पीछे के ‘पाखंड’ को बताया. आईसीसी टी20 विश्व कप (ICC T20 World Cup 2021) मैच में भारत पर पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाने के लिए नागरिकों द्वारा कथित तौर पर पटाखे फोड़े गए. सहवाग ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से एक ट्वीट कर मजाक उड़ाते हुए पूछा, ‘दीवाली पर आतिशबाजी में क्या नुकसान था?’ दरअसल, टी20 विश्व कप में भारत-पाकिस्तान मैच (India vs Pakistan) के बाद कई लोगों ने पटाखे फोड़ने का आरोप लगाया है कि भारत में कई कुछ निवासियों ने टीम इंडिया की 10 विकेट की हार का जश्न मनाया.

वीरेंद्र सहवाग ने इस मामले में ट्वीट करते हुए कहा, ”दिवाली के दौरान पटाखों पर प्रतिबंध है, लेकिन कल भारत के कुछ हिस्सों में पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाने के लिए पटाखे फोड़े गए थे. अच्छा (ओके) वे क्रिकेट की जीत का जश्न मना रहे होंगे. तो दिवाली पर पटाखे फोड़ने में क्या नुकसान है. हिप्पोक्रेसी क्यों. सारा ज्ञान तब ही याद है.”

IND vs PAK T20 World Cup: ‘हरभजन पा जी आपने टीवी तो नहीं तोड़ा’ ? फिक्सिंग में बैन हुए पाकिस्तानी गेंदबाज ने यूं कसा तंज

दिल्ली निवासी वीरेंद्र सहवाग की प्रतिक्रिया सितंबर में दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (DPCC) द्वारा राष्ट्रीय राजधानी में 1 जनवरी, 2022 तक सभी प्रकार के पटाखों की बिक्री और फोड़ने पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने के आदेश के बाद आई है.

वीरेंद्र सहवाग के अलावा पूर्व भारतीय क्रिकेटर और वर्तमान में बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने कुछ ऐसा ही आरोप लगाते हुए एक ट्वीट किया. गंभीर ने ट्वीट कर आरोप लगाया कि पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाने वाले पटाखे ‘भारतीय नहीं हो सकते’. इसी के साथ उन्होंने शर्मनाक हैशटैग का भी इस्तेमाल किया.


बता दें कि डीपीसीसी ने जिलाधिकारियों और पुलिस उपायुक्तों को निर्देशों को लागू करने और दैनिक कार्रवाई की रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया है. वायु प्रदूषण और श्वसन संक्रमण के बीच महत्वपूर्ण संबंध को देखते हुए, कोरोना महामारी संकट के तहत पटाखे फोड़ना बड़े सामुदायिक स्वास्थ्य के लिए अनुकूल नहीं है.
IND vs PAK: मोहम्मद शमी को बुरा-भला करने वालों पर बरसे सहवाग-इरफान, बोले- इसे रोकने की जरूरत

ऑर्डर में कहा गया, ”कई विशेषज्ञों ने कोविड ​​​​-19 की तीसरी लहर की संभावना का संकेत दिया है. ऐसे में मानना है कि पटाखों को फोड़कर बड़े पैमाने पर समारोहों के परिणामस्वरूप न केवल सामाजिक दूरी के मानदंडों का उल्लंघन होगा, बल्कि उच्च स्तर का वायु प्रदूषण भी दिल्ली में गंभीर स्वास्थ्य मुद्दों को जन्म देगा.” दिल्ली (जहां सर्दियों के महीनों के दौरान पड़ोसी राज्यों में पराली जलाने के कारण प्रदूषण की मात्रा बढ़ जाती है) पटाखे फोड़ने से और भी बदतर हो जाती है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here