कोरोना नेगेटिव के बावजूद 1 साल में चौथी बार क्वारंटाइन हुई यह लड़की, परेशान होकर कहा- चैन से जीना चाहती हूं

0
52


कोरोना महामारी (Corona Crisis) ने लोगों को बेबस कर घर में ही कैद रहने पर मजबूर कर दिया है. बच्चे तो शायद यह तक भूल गए होंगे कि उनका स्कूल दिखता कैसा है. कोविड टाइम (COVID19 time) की हर किसी की अलग स्टोरी (Story) है. किसी ने लॉकडाउन के दौरान नई-नई चीजें सीखीं तो वहीं कई लोगों का घर से भागने का मन भी किया.

ऐसा ही प्राइमरी स्कूल (Primary School) में पढ़ने वाली एक बच्ची लिली हेमेलरीक (Lilly Hemelryk) का किस्सा है. आपको बता दें कि लिल्ली 11 साल की हैं और पूर्वी सुससेक्स (East Sussex) के होव (Hove) में अपने माता-पिता के साथ रहती हैं. जानकारी के मुताबिक लिली की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट (Corona test report) नेगेटिव आने के बाद भी उन्हें इसी साल 4 बार क्वारंटाइन (Quarantine) में रहना पड़ा. दरअसल, शुक्रवार को उनका आइसोलेशन पीरियड (Isolation Period) खत्म होने वाला था लेकिन उसके बाद उन्हें बताया गया कि 10 से 14 दिन के लिए उन्हें और क्वारंटाइन में रहना पड़ेगा क्योंकि उनके आसपास किसी की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव (Tested Corona Positive) आई है.

क्वारंटाइन से तंग आ गई बच्ची

आपको बता दें कि लिली ने कहा कि वह इससे बहुत तंग आ गईं हैं. उन्होंने आगे बताया कि वह सितंबर में सेकंडरी स्कूल (Secondary School) शुरू होने से पहले अपने दोस्तों के साथ कुछ वक्त बिताना चाहतीं थीं. उन्होंने कहा, ‘हां, मैं समझती हूं कि सुरक्षित रहना बहुत जरूरी है और यह सुनिश्चित करना भी कि हमें वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकना है लेकिन अब मैं बहुत परेशान हो गई हूं.’

सालभर से चौपट हो रहे सारे प्लान्स

लिली की मां ने बताया कि मुझे नहीं पता कि 10 दिन की छुट्टी से कैसे कुछ अच्छा होगा. उन्होंने कहा कि अगर कोई बीमार है तो उसे छुट्टी दी जाए लेकिन एक स्वस्थ बच्चे को घर में ‘कैद’ रखने के लिए नहीं कहा जाना चाहिए. उनकी मां ने बताया कि लिली बहुत हताश हो चुकी हैं. उन्होंने यह भी कहा कि लिली की उम्र के बाकी बच्चों का भी यही हाल है. जो प्लान्स (Plans) सालभर से पोस्टपोन (Postpone) हो रहे हैं, बच्चों को अब वो सब करने का मौका मिलना चाहिए.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here